संशोधित वेतन को जारी करें

प्रदेश स्कूल प्रवक्ता संघ ने पंजाब की तर्ज पर संशोधित वेतनमान न जारी करने पर सरकार की है। प्रदेश में कर्मचारियों को पंजाब में निर्धारित वेतनमानुसार वेतन का भुगतान होता है। हिमाचल सरकार इसके लिए कानूनी रूप से बाध्य है। इसके चलते स्कूल प्रवक्ता वर्ग को 10300-34800 के पे बैंड में 5400 रुपए की ग्रेड-पे दी गई है। स्कूल प्रवक्ता इस वेतनमान को कानूनन पहली, जनवरी 2006 से लेने के योग्य हैं, लेकिन प्रदेश सरकार को बार-बार सूचित करने के बाद भी कोई प्रगति नहीं हुई। विदित हो कि प्रदेश में 4200 रुपए की ग्रेड-पे दी जा रही है, जो कि 16290 रुपए का मूल वेतन है। पंजाब में व देश के अन्य हिस्सों में इस वेतनमान पर जेबीटी शिक्षक कार्य कर रहे हैं। स्कूल प्रवक्ता का मूल वेतन 20,000 से ऊपर बनता है। स्पष्ट है कि हिमाचल में एक स्कूल प्रवक्ता को लगभग 4000 रुपए का कम मूल वेतन दिया जा रहा है। संघ ने सरकार से स्कूल प्रवक्ताओं के लिए 4-9-14 के सेवा समय का वित्तय लाभ 5400 रुपए की गे्रड-पे देने की मांग की है। वर्तमान ग्रेड-पे 4200 रूपए पर 4-9-14 की सेवा समय का वित्तय लाभ स्वीकार्य नहीं होगा। इसके साथ ही संघ प्राइमरी टीचर फेडरेशन (पीटीएफ) के विरोध को समर्थन करता है। प्रदेश स्कूल प्रवक्ता संघ के प्रदेशाध्यक्ष नरोत्तम ठाकुर, राज्य महासचिव राजेंद्र ठाकुर व राज्य मुख्य संगठन सचिव पंकज कुमार ने बयान में कहा कि सरकार हिमाचल में स्कूली शिक्षा से जुड़े सभी शिक्षकों के वर्गों (जेबीटी से लेकर स्कूल प्रवक्ता) के वेतनमान पंजाब की तर्ज पर जारी करें।
source:divya himachal